विवाद के बीच जानिए प्रमुख राज्यों में वैक्सीनेशन का पिछले पांच दिन का आंकड़ा



<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">नई दिल्ली:  21 जून दो नई गाइडलाइंस लागू होने के बादद देश में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन का नया रिकॉर्ड बना. लेकिन टीकाकरण का यह रिकॉर्ड अब सवालों के घेरे में हैं. कांग्रेस के बड़े नेता पी चिदंबरम ने आरोप लगाया है कि सिर्फ रिकॉर्ड बनाने के लिए जमाखोरी की गई. इसके साथ ही उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि हो सकता है मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार मोदी सरकार को दिया जाए.

पहले जानिए चिदंबरम ने क्या कहा?
पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘रविवार को जमा करो, सोमवार को टीकाकरण करो और फिर मंगलवार को उसी स्थिति में लौट आओ. यही एक दिन में टीकाकरण का विश्व कीर्तिमान स्थापित करने के पीछे का राज है.’’

चिदंबरम ने तंज कसते हुए कहा, ‘‘मुझे भरोसा है कि इस कदम को गिनीज बुक में स्थान मिलेगा. कौन जानता है कि मोदी सरकार को औषधि का नोबेल पुरस्कार मिल जाए. ‘मोदी है तो मुमकिन है’ को अब ‘मोदी है तो मिरैकल है’ पढ़ा जाना चाहिए.’’

क्यों हो रहा है रिकॉर्ड टीकाकरण के आंकड़ों पर विवाद?
कोरोना के टीकाकरण पर विपक्ष इसलिए सवाल उठा रहा है क्योंकि देश में वैक्सीनेशन का जो रिकॉर्ड बना उसमें एमपी नंबर वन रहा लेकिन वही मध्य प्रदेश वैक्सीनेशन के सरकारी आंकड़ों में कमजोर दिख रहा है. 21 जून को मध्यप्रदेश में जहां करीब 17 लाख टीके लगे तो वहीं 20 जून को सिर्फ 692 टीके ही लगे. मध्य प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री ने इसे तकनीकि खामी बताया है.

वैक्सीनेशन पर दिल्ली में भी सियासी संग्राम
राजधानी दिल्ली में कोविड के टीकों की उपलब्धता को लेकर बीजेपी और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच मंगलवार को जुबानी जंग छिड़ गई. केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने केजरीवाल सरकार पर टीके होते हुए भी कम टीकाकरण का आरोप लगाया. वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पुरी पर निशाना साधा और उनसे केजरीवाल को ‘‘गाली’’ देने के बजाय दिल्ली को टीके की पर्याप्त खुराकें मुहैया कराने को कहा.

जानिए प्रमुख राज्यों में वैक्सीनेशन का पिछले पांच दिन का रिकॉर्ड

– बीजेपी शासित राज्यों का पिछले पांच दिन का रिकॉर्ड
मध्य प्रदेश- 17 जून- 1.24 लाख, 18 जून- 15 हजार, 19 जून- 22 हजार, 20 जून- 692, 21 जून- 16.91 लाख
कर्नाटक-  17 जून- 1.92 लाख, 18 जून- 2.17 लाख, 19 जून- 2.66 लाख, 20 जून- 68 हजार, 21 जून- 11.21 लाख
उत्तर प्रदेश-  17 जून- 4 लाख, 18 जून- 4.60 लाख, 19 जून- 4.41 लाख, 20 जून- 9 हजार, 21 जून- 7.26 लाख

– गैर बीजेपी शासित राज्यों का पिछले पांच दिन का रिकॉर्ड
महाराष्ट्र- 17 जून- 2 लाख, 18 जून- 2.24 लाख, 19 जून- 3.82 लाख, 20 जून-1.13 लाख, 21 जून- 3.83 लाख
पश्चिम बंगाल- 17 जून- 1.76 लाख, 18 जून- 2.05 लाख, 19 जून- 2.78 लाख, 20 जून- 68 हजार, 21 जून- 3.27 लाख
दिल्ली- 17 जून- 90 हजार, 18 जून- 78 हजार, 19 जून- 86 हजार, 20 जून- 12 हजार, 21 जून- 76 हजार

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

%d bloggers like this: