पोंटिंग ने की पृथ्वी की तारीफ: दिल्ली कैपिटल्स के कोच पोंटिंग ने कहा- पृथ्वी शॉ में सुपरस्टार खिलाड़ी बनने की क्षमता, नेट प्रैक्टिस से उनका खेल सुधा

पोंटिंग ने की पृथ्वी की तारीफ: दिल्ली कैपिटल्स के कोच पोंटिंग ने कहा- पृथ्वी शॉ में सुपरस्टार खिलाड़ी बनने की क्षमता, नेट प्रैक्टिस से उनका खेल सुधा


  • हिंदी समाचार
  • खेल
  • आईपीएल 2021 में दिल्ली की राजधानियों के कोच ने कहा कि पृथ्वी शॉ का सुपरस्टार खिलाड़ी बनने की योग्यता

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई12 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने पृथ्वी शॉ की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी के विजय हजारे ट्रॉफी में बेहतर प्रदर्शन का लाभ टीम को मिलेगा। शॉ टॉप स्कोरर रहे और चार शतक भी लगाए।

दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि पृथ्वी शॉ में सुपरस्टार खिलाड़ी बनने की क्षमता है। हालांकि उसे अपने प्रशिक्षण शैली में सुधार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि शॉ ने आईपीएल खत्म होने के बाद इस पर काम किया होगा, तभी वह विजय हजारे ट्रॉफी में वे टॉप स्कोरर रहे। इसका लाभ दिल्ली कैपिटल्स को मिलेगा। उन्होंने खुलासा किया कि शॉ पिछले सीजन में रन नहीं बनाने के बाद प्रैक्टिस नहीं करते थे, उनके कहने के बावजूद भी प्रशिक्षण से इंकार करते हुए थे। हालांकि जब वह मैच में रन बनाते थे, तो वह नेट्स पर जमकर बैटिंग करते थे।

पोंटिंग ने कहा, ‘पिछले सीजन में पृथ्वी ने प्रशिक्षण के लिए एक अलग थ्योरी को अपनाया था। जब वह मैच में रन नहीं बना पाए थे, तो उसके बाद नेट्स पर ट्रेनिंग नहीं करते थे। जब वह रन बनाता है तो वह नेट्स पर हमेशा बैटिंग करना पसंद करते हैं। मैं इसके साथ थ्योरी से सहमति नहीं थी। उन्होंने चार या पांच मैचों में 10 से कम रन बनाए और मैंने उनसे कहा कि उन्हें नेट्स पर बल्लेबाजी करना चाहिए, जिससे पता चले कि क्या गलती कर रहे हैं। लेकिन उन्होंने प्रैक्टिस करने से इंकार कर दिया। उसने गलती को सुधारने के लिए काम नहीं किया। ‘

उन्होंने आगे कहा कि मुझे लगता है कि अब बदलाव आए हैं। मुझे भरोसा है कि पिछले कुछ महीनों में इस पर उन्होंने अपनी कमियों को दूर करने के लिए काम किया और अपने प्रैक्टिस स्टाइल में परिवर्तन किया। अगर हम उन्हें बसा ले सकते हैं, तो वे सुपर स्टार खिलाड़ी बन सकते हैं।

पृथ्वी विजय हजारे के शीर्ष स्कोरर रहे
पृथ्वी शॉ ने इस साल विजय हजारे ट्रॉफी में टॉप स्कोरर रहे। उन्होंने 8 मैचों में 165.40 की औसत से 827 रन बनाए। उनका स्टाइक रेट 138.29 रहा। वहीं उन्होंने 4 शतक भी जड़े और 1 हाफ सेंचुरी भी लगाई।

पिछले सीजन में खराब प्रदर्शन रहा
पृथ्वी शॉ का पिछला सीजन में खराब प्रदर्शन रहा। उन्होंने 13 मैचों में 17.53 की औसत से 228 रन बनाए थे। वहीं ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में खराब प्रदर्शन के कारण उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया गया था।

खबरें और भी हैं …



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

%d bloggers like this: